Home » Romantic Shayari in Hindi

Romantic Shayari in Hindi

romantic shayari ,romantic shayari hindi ,hindi romantic shayari ,रोमांटिक शायरी ,love shayari ,romantic shayri in hindi ,romantic shayari in hindi ,shayari ,shayari in hindi ,hindi shayari ,shayari romantic ,romantic love shayari ,romantic hindi shayari ,shayari hindi ,shayari on love ,shayari love ,love shayri in hindi ,romantic shayri ,शायरी रोमांटिक ,love romantic shayari ,शायरी लव

मेरी चाहत देखनी है तो मेरे दिल पर अपना दिल रखकर देख
तेरी धड़कन ना भड्जाये तो मेरी मोहब्बत ठुकरा देना
गलतफहमी की गुंजाईश नहीं सच्ची मोहब्बत में
जहाँ किरदार हल्का हो कहानी डूब जाती है
होने दो मुख़ातिब मुझे आज इन होंटो से अब्बास
बात न तो ये समझ रहे है पर गुफ़्तगू जारी है
उदासियाँ इश्क़ की पहचान है
मुस्कुरा दिए तो इश्क़ बुरा मान जायेगा
कुछ इस अदा से हाल सुनाना हमारे दिल
वो खुद ही कह दे किदी भूल जाना बुरी बात है
माना की उससे बिछड़कर हम उमर भर रोते रहे
पर मेरे मार जाने के बाद उमर भर रोएगा वो
दिल में तुम्हारी अपनी कभी चोर जायेंगे
आँखों में इंतज़ार की लकीर छोड़ जायेंगे
किसी मासूम लम्हे मैं किसी मासूम चेहरे से
मोहब्बत की नहीं जाती मोहब्बत हो जाती है
करीब आओ तो शायद हम समझ लोगे
ये दूरिया तो केवल फसले बढ़ती है
तेरे इश्क़ में इस तरह मैं नीलाम हो जाओ
आखरी हो मेरी बोली और मैं तेरे नाम हो जाऊ
आप जब तक रहेंगे आंखों में नजारा बनकर
रोज आएंगे मेरी दुनिया में उजाला बनकर
उसे जब से बेवफाई की है मैं प्यार की राह में चल ना सका
उसे तो किसी और का हाथ थाम लियाबस फिर कभी सम्भल नहीं स्का
एक ही ख़्वाब देखा है कई बार मैंने
तेरी शादी में उलझी है चाहिए मेरे घर की
तुम्हे मेरी मोहब्बत की कसम सच बताना
गले में डाल कर बाहें किससे सीखाया है
नहीं पता की वो कभी मेरी थी भी या नहीं
मुझे ये पता है बस की माई तो था उमर बस उसी का रहा
तुमने देखा कभी चाँद से पानी गिरते हुए
मैंने देखा ये मंज़र तू में चेहरा धोते हुए
ठुकरा दे कोई चाहत को तू हस के सह लेना
प्यार की तबियत में ज़बर जस्ती नहीं होती
तेरा पता नहीं पर मेरा दिल कभी तैयार नहीं होगा
मुझे तेरे अलावा कभी किसी और से प्यार नहीं होगा
दिल में आहट सी हुई रूह में दस्तक गूँजी
किस की खुशबू ये मुझे मेरे सिरहाने आई
उम्र भर लिखते रहे फिर भी वारक सदा रहा
जाने किया लफ्ज़ थे जो हम लिख नहीं पाये
लगा के फूल हाथों से उसने कहा चुपके से
अगर यहाँ कोई नहीं होता तो फूल की जगह तुम होते

Top Shayari Posts

new romantic shayari

very romantic shayari ,romantic shayari romantic shayari ,hindi shayari love ,new love shayari ,romantic shayari lyrics ,shayari in hindi love ,romantic hindi shayri ,best romantic shayari in hindi ,hindi mein shayari ,shayari hindi love ,romantic shairy ,best romantic shayari ,शायरी रोमांटिक शायरी ,romentic sayari ,romantic शायरी ,shayari status love ,romantic shero shayari ,hindi romantic sayri ,shayri hindi romantic ,pyar shayari ,hindi romantic shayaris ,हिंदी रोमांटिक शायरी ,romantik sayri ,romentic sayri ,most romantic shayari ,best love shayari ,romatic shayari ,

जान जब प्यारी थी मरने का शौक था
अब मरने का शौक है तो कातिल नहीं मिल रहा
सिर्फ याद बनकर न रह जाये प्यार मेरा
कभी कभी कुछ वक़्त के लिए आया करो
मुझ को समझाया ना करो अब तो हो चुकी हूँ मुझ मैं
मोहब्बत मशवरा होती तो तुम से पूछ लेता
उन्हों ने कहा बहुत बोलते हो अब क्या बरस जाओगे
हमने कहा जिस दिन चुप हो गया तुम तरस जाओ गए
कुछ ऐसे हस्दे ज़िन्दगी मैं होते है
के इंसान तो बच जाता है मगर ज़िंदा नहीं रहता
बहुत वक़्त लगा हमें आप तक आने में,
बहुत फरियाद की खुदा से आपको पाने में,
कभी तुम यह दिल तोड़ कर मत जाना,
हमने उम्र लगा दी आप जैसा सनम पाने में।
पहली मोहब्बत थी और हम दोनों ही बेबस,
वो ज़ुल्फ़ें सँभालते रहे और मैं खुद को।
मुद्दत के बाद उसने जो आवाज़ दी मुझे,
कदमों की क्या बिसात थी साँसे ठहर गयीं।
नहीं बसती किसी और की सूरत अब इन आँखो में,
काश कि हमने तुझे इतने गौर से ना देखा होता।
मेरी निगाह-ए-शौक़ भी कुछ कम नहीं मगर,
फिर भी तेरा शबाब तेरा ही शबाब है।
नजाकत ले के आँखों में,
वो उनका देखना तौबा,
या खुदा हम उन्हें देखें
कि उनका देखना देखें।
तेरा प्यार मेरी जिंदगी में
बहार ले कर आया है,
तेरे आने से पहले हर दिन
पतझड़ हुआ करता था।
बस इतना ही कहा था कि बरसों के प्यासे हैं हम,
उसने होठों पे होंठ रख के खामोश कर दिया।
यार पहलू में है तन्हाई है… कह दो निकले,
आज क्यूँ दिल में छुपी बैठी है हसरत मेरी।
खिड़की से झांकता हूँ मै, सबसे नज़र बचा कर
बेचैन हो रहा हूँ, क्यों घर की छत पे आ कर
क्या ढूँढता हूँ, जाने क्या चीज खो गई है,
इन्सान हूँ, शायद मोहब्बत हमको भी हो गई।
किताबों से दलील दूँ,
या खुद को सामने रख दूँ,
वो मुझ से पूछ बैठा है,
मोहब्बत किस को कहते हैं?
पूछते हैं मुझसे की शायरी लिखते हो क्यों,
लगता है जैसे आईना देखा नहीं कभी।
लाखों हसीन हैं इस दुनिया में तेरी तरह,
क्या करें हमें तो तेरी रूह से प्यार है।
चेहरे पे मेरे जुल्फों को फैलाओ किसी दिन,
क्यूँ रोज गरजते हो बरस जाओ किसी दिन,
खुशबु की तरह गुजरो मेरी दिल की गली से,
फूलों की तरह मुझपे बिखर जाओ किसी दिन।
कहा ये किसने कि फूलों से दिल लगाऊं मैं,
अगर तेरा ख्याल ना सोचूं तो मर जाऊं मैं,
माँग ना मुझसे तू हिसाब मेरी मोहब्बत का,
आ जाऊं इम्तिहान पर तो हद्द से गुज़र जाऊं मैं।
मुझे सहल हो गई मंजिलें वो,
हवा के रुख भी बदल गये,
तेरा हाथ, हाथ में आ गया,
कि चिराग राह में जल गये।
अच्छी सूरत नज़र आते ही मचल जाता है,
किसी आफ़त में न डाल दे दिल-ए-नाशाद मुझे।
ये तो नहीं कि तुम सा जहान में हसीन नहीं,
इस दिल का क्या करूँ ये बहलता कहीं नहीं।
नज़रें मिल जाएं तो प्यार हो जाता है,
पलकें उठ जाएं तो इज़हार हो जाता है,
ना जाने क्या कशिश है आपकी चाहत में,
कि कोई अनजान भी…
हमारी ज़िन्दगी का हक़दार हो जाता है।
कुछ इस अदा से आज वो पहलू-नशीं रहे,
जब तक हमारे पास रहे हम नहीं रहे।
हमसे ना कट सकेगा अंधेरो का ये सफर
अब शाम हो रही हे मेरा हाथ थाम लो।
खुद नहीं जानते कितनी प्यारे हो आप,
जान हो हमारी पर जान से प्यारे हो आप,
दूरियों के होने से कोई फर्क नही पड़ता,
कल भी हमारे थे और आज भी हमारे हो आप।

romantic shayaris in hindi

love rom,ntic sayri ,romentik sayri ,shayari in hindi romantic ,love romantic sayari ,romantik shayari ,romantic love shyari ,রোমান্টিক সাইরি ,sayari romantic ,romantic shayaries ,romatic shayri ,new shayari love ,love romantic shayari in hindi ,hindi romantic shyari ,romantic shayri in hindi for love ,love shayari sms ,romantik sayari ,shayri in hindi ,romantic shyari in hindi ,hindi shayri romantic ,sayri ,romantic sairy ,sayri romantic ,romanting shayari ,romantic shari ,romantic sayari in hindi ,romantic shayri hindi ,romantic pyar shayari ,shayri for love ,romentic shayeri ,beautiful hindi love shayari ,romantic shayri love

भरम रखो मोहब्बत का
वफ़ा की शान बन जाओ,
किसी पर जान देदो या
किसी की जान बन जाओ,
तुम्हारे नाम से मुझको
पुकारें ये जहाँ वाले
मैं बन जाऊं अफसाना
और तुम उन्वान बन जाओ।
छेड़ आती हैं कभी लब तो कभी रूखसारों को
तुमने ज़ुल्फ़ों को बहुत सर पर चढा रखा है।
आ भी जाओ मेरी आँखों के रूबरू अब तुम,
कितना ख्वावों में तुझे और तलाशा जाए।
दिल की आरज़ू तो बस यही है मेरे सनम,
तेरे दिल में हम रहें मेरे दिल में तुम,
तेरा हाथ हाथ में लेकर चलते रहें यूँही,
यह ज़िन्दगी भी तेरे साथ जीने को पड़े काम।