Home » Husband Wife Hindi Shayari

Husband Wife Hindi Shayari

Husband Wife Hindi Shayari

शादी तो एक नाम था , खुदा देना चाहता तोहफा मेरी इबादत का
मैं दिन में हर बार झगड़ता हूँ, तुम हँसकर टाल देती होमैं नहीं करता परवाह ज्यादा मेरी ,क्योंकि जानता हूँ तुम सबकुछ सभांल लेती हो
एक तू तेरी आवाज़ याद आएगी
तेरी कही हुई हर बात याद आएगी
दिन ढल जाएगा रात याद आएगी
हर लम्हा पहली मुलाकात याद आएगी.
husband wife shayari
कैसे ना करूँ तारीफ तेरी घर,परिवार सब छोड़ आई हो तुम मुझे अपनी जिंदगी समझकर
पति पत्नी में कोई रूठे तो इक दूजे को मना लो,
दिल उठे मोहब्बत के अरमान तो खुलकर बता दो.
जिंदगी थोड़ी उलझी,थोड़ी बेगानी थी, तेरे साथ वक्त गुजरा तब जाके बनी वो प्रेम कहानी थी
पति पत्नी के रिश्तें की शान बन जाएँ,
एक दुसरे के लबों की मुस्कान बन जाएँ.
बड़ा डर था आने वाले वक्त को लेकर मुझे पर ये ना जानता था कि ऐसा उनदा तोहफा लेकर आएगा वो
यूं हरा देने वाले मुझे यहाँ हर रोज फिरते हैफिर भी खड़ा हूँ मैं अटल यहाँ क्योंकि हर मुसीबत में साथ देने वाले तेरे हाथ नहीं फिसलते है
मेरी हर ख़ुशी हर बात तेरी हैं
साँसों में छुपी ये साँस तेरी हैं
दो पल भी नही रह सकते तेरे बिन
धड़कनों की धड़कती हर आवाज तेरी हैं
husband wife shayari
जब लग रहा था कि जिंदगी में कोई बता से रास्ता मुझे मेरी मंजिल का उस वक्त मेरी हमराही बन तुम चली मेरे संग ,बिना किसी स्वार्थ के ।
जैसा मांगा उपरवाले से,
वैसा तेरे जैसा यार मिला,
कुछ और नहीं ख़्वाहिश मेरी,
तेरा जो इतना प्यार मिला।
मैंने माँगी थी खुदा से थोड़ी सी ख़ुशीउन्होंनें हमेशा हँसाने वाली तुमको दे दिया मुझे।
तेरे सीने से लग कर तेरी आरज़ू बन जाऊ
तेरी सांसो से मिलकर, तेरी खुशबु बन जाऊ
फासले ना रहे कोई हम दोनों के दरमियाँ में
में ना रहुँ बस “तुम” बन जाऊ…!!
माँ के बाद तुम सिर्फ तुम होमाँ के बाद तुम सिर्फ तुम हो जिसने निभाया है उम्रभर साथ मेरा मेरे हर हालात में।
बहुत अजीब से हो गये है,
ये रिश्ते आजकल के
सब फुर्सत में है पर
वक्त किसी के पास नहीं.
husband wife shayari
तुम मेरे घर आई थीबिना देखे, मुझे अपना मान,तुम मेरे घर आई थी मेरा वादा है तुमसे यहाँ तुझे तेरे घर से भी ज्यादा खुशी दूंगा मैं।
कोई टूटे तो उसे सजना सीखो,
कोई रूठे तो उसे मानना सीखो,
रिश्ते तो मिलते हैं मुक़द्दर से,
बस उसे खूबसूरती से निभाना सीखो
दुःख सुख में साथ उसकी पत्नी खड़ी हो।हालात भी नहीं हरा सकते उस इंसान के होन्स्लो को जिसके दुःख सुख में साथ उसकी पत्नी खड़ी हो।
आप जो आए तो मेरे इन होटों को मुस्कान मिली है,
आप जो आए तो मेरे दिल को एक नई जान मिली है,
मिली है हर खुशी बेपना, और हमे एक नई पहचान मिली है….!!
जी कोई बात नहींआदमी हार कर भी जीत जाता है वक्त सेजब पत्नी कहती है कि- जी कोई बात नहीं,हम थोड़ा कम में काम चला लेगें ।
बड़ी सुनी थी जिंदगी एक अरसे पहले फिर तुमने थामा हाथ और चली संग यूंमानो जन्न्त मिल गई हो हमें।